HomeStatementsHindi News Articles

नफरत का इलाज सिर्फ मोहब्बत है, इसी से समाज का इलाज सम्भव: सय्यद मोहम्मद अशरफ

नफरत का इलाज सिर्फ मुहब्बत है इसे से समाज का इलाज संभव - सय्यद अशरफ 19 फरवरी 2021 शुक्रवार, अजमेर राजस्थान हज़रत ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती रहमतुल्ला

सरकार शिक्षा और रोजगार पर ध्यान दे : सय्यद मोहम्मद अशरफ
कुर्बानियों के बाद मिली है आज़ादी नफरत इसे बर्बाद न करने पाये: सय्यद मोहम्मद अशरफ
पैग़म्बर -ए-अमन की तालीम पर अमल से ही दुनिया में अमन मुमकिन : सय्यद मोहम्मद अशरफ

नफरत का इलाज सिर्फ मुहब्बत है इसे से समाज का इलाज संभव – सय्यद अशरफ

19 फरवरी 2021 शुक्रवार, अजमेर राजस्थान

हज़रत ख़्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती रहमतुल्लाह अलैहि के उर्स के मौके पर आल इंडिया उलमा व मशाईख बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं वर्ल्ड सूफ़ी फोरम के चेयरमैन हज़रत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने दुनिया भर में हज़रत ख़्वाजा गरीब नवाज से अकीदत रखने वालों को उर्स की बधाई देते हुए कहा कि दुनिया का इलाज सिर्फ मुहब्बत है ,क्योंकि मुहब्बत नाइंसाफी को खतम करती है और इंसाफ हर बुराई को खतम कर देता है ,क्योंकि बिना इंसाफ कायम किए अमन नहीं हो सकता।

नाइंसाफी से नफरत पनपती है और नफरत सिर्फ नुकसान कर सकती है इससे कोई फायदा हासिल नहीं किया जा सकता है,उन्होंने उर्स के मौके पर चिश्ती मंज़िल झालरा दरगाह अजमेर शरीफ में आयोजित बोर्ड की प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए उन्होंने यह विचार रखे।
बोर्ड की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य हज़रत अम्मार अहमद अहमदी उर्फ नय्यर मियां रुदौली शरीफ ने कहा कि समाज में हमेशा मुहब्बत का संदेश इन सूफियों की बारगाह से दिया जाता रहा है , इन वालियों की चौखट पर कभी किसी से उसका मज़हब,उसकी जात उसकी पहचान नहीं पूछी गई हमेशा बिना किसी भेदभाव के लोगों की ज़रूरत को पूरा किया गया यही वजह है कि हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज़ के आंगन में एक ऐसा गुलदस्ता नजर आता है जिसमें हर रंग ,नस्ल के फूल है जो आप पर निसार हुए जाते है उन्होंने सभी को उर्स की मुबारकबाद दी।
बोर्ड के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य हज़रत सय्यदी मियां मदारी मकनपुर शरीफ ने कहा कि आपसी भाईचारे की जो सीख सूफियों ने दी वह हमारे मुल्क की मजबूती की जमानत है अगर इसे तोड़ा गया तो देश का नुकसान तय है,मुहब्बत ही एक ऐसा रास्ता है जिससे दुनिया को खूबसूरत बनाया जा सकता है उन्होंने लोगों को उर्स की मुबारकबाद देते हुए कहा कि हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज़ से अकीदत का पहला क़दम यह है कि सबसे मुहब्बत की जाए।
बोर्ड के कर्नाटक राज्य के प्रदेश अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य हज़रत सय्यद तनवीर मियां ने कहा कि हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज़ रहमतुल्लाह अलैहि का पैग़ाम नफरत किसी से नहीं मुहब्बत सबके लिए इस दौर में कामयाबी का नारा है क्योंकि जिस तरह हर रोज़ नफरत को परोसा जा रहा है और आग लगाने की कोशिश हो रही है यही पैग़ाम है जो हमें महफूज़ रख सकता है उन्होंने लोगों को उर्स की मुबारकबाद देते हुए कहा कि अब होशियार भी रहना होगा क्योंकि नफरत ने मुखौटा बदला है और मुहब्बत के आंगन को अपनी साजिशों के लिए इस्तेमाल करने का मंसूबा बना लिया है लिहाज़ा नफरत वाला अगर कोई संदेश या किसी नफरत के एजेंडे को पैरवी अगर यहां का सहारा लेकर की जाए तो समझ जाए कि यह नकली पैकिंग वाला है जिसने खाल ओढ़ ली है।
बोर्ड के राष्ट्रीय सचिव सय्यद सलमान चिश्ती ने लोगों को उर्स की मुबारकबाद देते हुए कहा कि दुनिया कोरोना के बाद काफी बदली है और हमने समझ लिया कि नफरत से सिर्फ नुकसान है और मुहब्बत ही अकेला रास्ता है कामयाबी का लिहाज़ा सभी हुज़ूर गरीब नवाज़ के पैग़ाम पर अमल करें।

इस मौके पर बोर्ड द्वारा मास्क का वितरण जायरीनों के बीच किया गया और देश एवम दुनिया की सलामती की दुआ की गई देश में मुहब्बत ,अमन,और इंसाफ कायम रखने का अज्म भी लिया गया।
यूनुस मोहानी

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0