नफरतों को मोहब्बत से खत्म किया जाए :  सय्यद मोहम्मद अशरफ

HomeNewsHindi News Articles

नफरतों को मोहब्बत से खत्म किया जाए : सय्यद मोहम्मद अशरफ

देवास: 08 नवंबर, 2021 नफरत को नफरत से खत्म नहीं किया जा सकता है इसे मोहब्बत से ही खत्म किया जा सकता है हमारे नबी ने हमेशा मोहब्बत का दर्स दिया है,

आल इंडिया उलमा व मशाईख़ बोर्ड, ज़रूरत और महत्व:मौलाना कैसर रज़ा अल्वी, हनफी, मदारी
उलमा मशाइख बोर्ड का स्कूल में पोधरोपण
बटला हाउस: मस्जिद खलीलुल्लाह के सेहन में फेहराया गया तिरंगा

देवास: 08 नवंबर, 2021

नफरत को नफरत से खत्म नहीं किया जा सकता है इसे मोहब्बत से ही खत्म किया जा सकता है हमारे नबी ने हमेशा मोहब्बत का दर्स दिया है, कभी किसी के लिए बद्दुआ नहीं की यह बात ऑल इंडिया उलमा मशाइख बोर्ड की मीटिंग में बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष व वर्ल्ड सूफी फोरम के चेयरमैन हज़रत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने कही, उन्होंने कहा कि मशाईख बोर्ड का भी यही मकसद है।
शहर सीनियर काज़ी मौलाना इरफान अहमद अशरफी साहब की सरपरस्ती में हुई इस मीटिंग में हजरत आलमगीर अशरफी साहब ने अपनी बात रखते हुए कहा की समाज की बुराइयों को खत्म करने के लिए हमें अपना किरदार संवारना होगा।

इस मीटिंग में समाज की हालत और बेहतर करने पर मंथन किया गया जिसमें इंदौर से हाई कोर्ट एडवोकेट मोहम्मद शाहिद , भोपाल से डॉ नज़र मेहमूद, व हफीज बशीर सा, इंदौर से सालिक उस्मान, इटारसी से अयूब अशरफी, दिल्ली से मौलाना मकबूल अहमद सालिक मिस्बाही व मौलाना अजीम अशरफी, बुरहानपुर से जमाल बाबा अशरफी, महेश्वर से काजी आशिक हुसैन अशरर्फी, कोटा से मौलाना उमर फारूक, उज्जैन से प्रोफेसर जफर महमूद, सूफी जाकिर,केसवाल से मौलाना खलील आदि उपस्थित थे संचालन काजी नोमान अहमद अशरफी साहब ने किया।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0