तालीमे नबी पर अमल किये बिना अमन मुमकिन नहीं: सय्यद मोहम्मद अशरफ

नवंबर 1, शुक्रवार लखनऊ,
वर्ल्ड सूफी फ़ोरम के चेयरमैन और आल इंडिया उलमा व मशाइख़ बोर्ड के अध्यक्ष सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने लखनऊ में एक धर्मसभा को संबोधित करते हुए कहा कि तालीमे नबी पर अमल क़िये बिना अमन संभव नहीं है उन्होंने कहा कि अल्लाह के प्यारे रसूल हज़रत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फ़रमाया कि अगर आपका पड़ोसी आपके दुर्व्यवहार की वजह परेशान है तो आप मुसलमान नहीं हो सकते ,अब पड़ोसी को देखा जाए तो एक घर दूसरे घर का पड़ोसी है,एक मोहल्ला दूसरे मोहल्ले का पड़ोसी है,एक शहर दूसरे शहर का पड़ोसी है,एक प्रदेश दूसरे प्रदेश का पड़ोसी और एक देश दूसरे देश का पड़ोसी है इस तरह पूरा संसार आपस में पड़ोसी है तो सार यही निकलता है कि अगर लोग सिर्फ इस एक शिक्षा पर अमल कर ले और अपने पड़ोसी का ख्याल रख लें तो पूरे संसार में शांति स्थापित हो जायेगी।
उन्होंने कहा कि पैगम्बर ने कहा कि सबसे बड़ा पुण्य का काम लोगों को खाना खिलाना है,लोग इस तालीम पर अमल करें तो संसार से भूकमरी समाप्त हो जायेगी ,हम सबको इस पर अमल करना है जब हम अमल करके दिखा देंगे तो लोग चाहे जितनी कोशिश कर लें हमारे खिलाफ किसी के दिल में नफरत पैदा नहीं कर सकते ,यही काम सूफिया ने किया उन्होंने नबी की तालीम पर अमल किया और पूरा संसार उनका दीवाना हो गया,और चाहे कोई कितनी नफरत की बात करे उनके आस्तानों पर अकीदतमंदो की भीड़ कम नहीं होती।
हज़रत ने कहा कि हम सबको अगर अमन चाहिए तो खुद को उसी सांचे में ढालना होगा जो सुन्नत के मुताबिक हो आजकल लोग सिर्फ अच्छी बाते बता रहे हैं उसपर खुद अमल नहीं करते यही वजह है कि समाज में बुराइयां फैल रही हैं,लगातार लोग घाटे में जा रहे हैं।
उन्होंने कहा कि समाज में नफरत नहीं बढ़ रही है ऐसा जो लोग कह रहे हैं उनका दृष्टिकोण सही नहीं है मोहब्बत कम हो रही है यह सही बात है ,जब मोहब्बत घटेगी तो उसी अनुपात में नफरत फैलेगी यही हो रहा है इसे रोकने का एक मात्र साधन नबी की शिक्षाओं पर अमल करना है।
यह मुबारक महीना है इसका एहतराम यह है कि हम सब नबी के बताए रास्ते पर चलें और लोगों के लिए राहत और आसानी पैदा करने वाले बन जाएं लोग हमें देख कर कहें कि यहां हमें कोई खतरा नहीं है यह मोहम्मद सल्लल्लाहू अलैहि वसल्लम के गुलाम हैं इनके पास हमारी इज्जत ,दौलत जान सब सुरक्षित है,सभी को आमदे रसूल की मुबारकबाद देते हुए हज़रत ने कहा कि इस पूरे हफ्ते को आल इंडिया उलमा व मशाइख़ बोर्ड वीक ऑफ ह्यूमिनिटी के तौर पर मनाता है आप सब इसे उसी तरह मनाइए लोगों की खूब मदद कीजिए गरीबों यतीमो के काम आइए ,लोगों को खाना खिलाइए ,पेड़ लगाए ,साफ सफाई रखे और दुरूद की महफ़िल साजाएं।

By: Yunus Mohani