HomeNewsStatements

AIUMB ने कैंप लगाकर राहत सामान इकट्ठा किया

AIUMB (ऑल इंडिया उलमा व मशाइख बोर्ड) की इटावा और ग़ज़िआबाद यूनिट का बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री जुटाने का कार्य जारी, कैंप लगाकर राहत सामान इकट्ठा

Photographs from World Sufi Forum:17-20 March 2016
बटला हाउस: मस्जिद खलीलुल्लाह के सेहन में फेहराया गया तिरंगा
World Sufi Conference, Jamiat-Ulema-e-Hind:State Times

AIUMB (ऑल इंडिया उलमा व मशाइख बोर्ड) की इटावा और ग़ज़िआबाद यूनिट का बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री जुटाने का कार्य जारी, कैंप लगाकर राहत सामान इकट्ठा किया।

इटावा। असम, उत्तर प्रदेश, बिहार सहित देश के अन्य भागों में बाढ़ से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है।
बड़ी संख्या में लोग मुसीबत का शिकार हैं और लोगों के पास खाने, पीने और ज़रूरी वस्तुओं की बहुत कमी है। ऐसे वक़्त में आल इंडिया उलेमा व मशाईख बोर्ड के संस्थापक अध्यक्ष हज़रत सैयद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने लोगों से खुलकर बाढ़ पीड़ितों की मदद करने के लिए और बोर्ड के सभी शाखाओं द्वारा बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए राहत सामग्री एकत्र करने के लिए कहा था। जिस पर पूरे देश में प्रयास जारी है और राहत सामग्री जमा करके भेजी जा रही है। इसी संबंध में बोर्ड की इटावा और ग़ाज़ियाबाद यूनिट ने बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए अंजुमन हुसैनिया, इटावा के सहयोग से कैंप लगाया और लोगों से अधिक से अधिक मदद करने की अपील की और लोगों की मदद से राहत सामग्री एकत्र की गयी जिसे जल्द ही बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में भेज दिया जाएगा। अंजुमन हुसैनिया शहर इटावा के अध्यक्ष हाजी गुड्ड मंसूरी ने बताया कि ऑल इंडिया उलमा व मशाईख बोर्ड की घोषणा के बाद हम लोग हरकत में आ गए हैं क्योंकि मानवता यही है और इस्लामी शिक्षा भी कि परेशान हाल लोगों की मदद की जाए।
गाजियाबाद यूनिट के जिम्मेदार आबिद सिद्दीकी ने कहा कि हमारा मज़हबी और इंसानी कर्तव्य है कि परेशान लोगों की मदद के लिए आगे आएं तथा अल्लाह और उसके रसूल की रजा के लिए लोगों की
उदारता पूर्वक मदद करें।
AIUMB के सक्रिय सदस्य हाजी सरफराज खान ने बताया कि जल्द ही रहत सामग्री लेकर बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लिए रवाना होंगे जहां यह बिना किसी भेदभाव के परेशान हाल लोगों में वितरित किया जाएगा।

AIUMB कैंप में हाजी शेख शकील अहमद, हाजी दिलशाद खान, हाजी हाफिज खुर्शीद अहमद, टिंकू भाई, रफी अब्बासी, मुन्ना वारसी, नोरीद वारसी आदि के अलावा बोर्ड के सदस्य और स्थानीय लोग मौजूद रहे।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0