अजमेर दरगाह में शाम के बाद ज़ियारत पर रोक लगाये जाने पर AIUMB के अध्यक्ष ने दिया यह बयान

नई दिल्ली,आल इंडिया उलेमा व मशाइख बोर्ड के संस्थापक व राष्ट्रीय अध्यक्ष हज़रत मौलाना सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने आज दरगाह अजमेर शरीफ में शाम के बाद ज़ियारत करने व इबादत पर रोक लगाये जाने के बाद कहा कि यह खुली हुई दहशतगर्दी है. दरगाह के नाज़िम मंसूर अली खान द्वारा आदेश जारी कर के 11 बजे के बाद कोई दरगाह परिसर में नहीं रुक नहीं सकता, दुआ फातिहा या कोई इबादत नहीं कर सकता,बयान जारी करने पर AIUMB के अध्यक्ष  ने कहा कि हज़रत ख्वाजा  गरीब नवाज़ के मेहमानों के साथ यह व्यवहार खुला आतंकवाद है और ऐसा कोई भी ग़रीब नवाज़ की शिक्षा का पालन करने वाला नहीं कर सकता।

उन्होंने कहा कि आल इंडिया उलेमा व मशाइख बोर्ड पहले भी भारत सरकार को आगाह करता रहा है कि सूफियों की  दरगाहों पर वक्फ बोर्ड द्वारा शिद्दत पसंद लोग क़ाबिज़  हो रहे हैं और वह लोग सूफियों की तालीमात के खिलाफ काम कर रहे हैं,इस लिए ऐसे लोगों को तत्काल उनके पद से हटाया जाए.उन्होंने भारत सरकार से मांग करते हुए कहा कि दरगाह नाजिम को पद से हटाया जाए और इसके लिए जो भी कार्यवाही हो सरकार करे और दूसरी दरगाहों में जहां इस सोच के लोग काबिज हुए हैं उन्हें बाहर कर दिया जाए ताकि हिंसा ना फैला सकें.