सरहद पर गोली और मीडिया की बोली दोनों ही से देश को खतरा : सय्यद मोहम्मद अशरफ

17 जून,2020 बुधवार, नई दिल्ली

आल इंडिया उलमा व मशाईख बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं वर्ल्ड सूफ़ी फोरम के चेयरमैन हज़रत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने न्यूज 18 न्यूज चैनल के एंकर अमीश देवगन द्वारा हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज़ रहमतुल्लाह अलैहि की शान में अभद्र एवं अशोभनीय टिप्पणी किए जाने पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है उन्होंने कहा मुल्क नाज़ुक दौर से गुजर रहा है ऐसे में मुल्क की मीडिया का यह गैर जिम्मेदाराना रुख भारत की एकता पर खतरा है।
इस तरह के गैरजिम्मेदार लोगों पर तुरंत कार्यवाही की जानी चाहिए क्योंकि हज़रत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती रहमतुल्लाह अलैहि से न सिर्फ देश के मुसलमान बल्कि देश एवं विदेश के सभी धर्मों के लोग श्रद्धा रखते हैं अमीश देवगन की टिप्पणी से सभी की भावनाएं आहत हुई हैं और इस प्रकार की भाषा हमारी गंगा जमुनी तहजीब और भारतीय मूल्यों के विपरीत है।हज़रत ने कहा कि इस संबंध में बोर्ड ने भारत के प्रधानमंत्री ,गृहमंत्री,महामहिम राष्ट्रपति महोदय सहित भारत के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिख कर कार्यवाही की मांग की है एवं भारत की एकता की चोट पहुंचाने वाले ऐसे व्यक्ति के विरूद्ध पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई है।


हज़रत ने कहा कि हम अपनी सीमाओं की सुरक्षा के लिए अपनी सेना एवं भारत सरकार के साथ है और हर संभव सहयोग एवं देश रक्षा हेतु प्राणों की बाज़ी लगाने को भी तैयार हैं पूरे देश को इस संकट के समय में एकजुट रहना है लेकिन ऐसे घिनौने बोल बोलने वालों पर लगाम लगाई जानी चाहिए और तुरंत इनपर कठोरतम कार्यवाही की जानी चाहिए।

Yunus Mohani

अजमेर दरगाह में शाम के बाद ज़ियारत पर रोक लगाये जाने पर AIUMB के अध्यक्ष ने दिया यह बयान

नई दिल्ली,आल इंडिया उलेमा व मशाइख बोर्ड के संस्थापक व राष्ट्रीय अध्यक्ष हज़रत मौलाना सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने आज दरगाह अजमेर शरीफ में शाम के बाद ज़ियारत करने व इबादत पर रोक लगाये जाने के बाद कहा कि यह खुली हुई दहशतगर्दी है. दरगाह के नाज़िम मंसूर अली खान द्वारा आदेश जारी कर के 11 बजे के बाद कोई दरगाह परिसर में नहीं रुक नहीं सकता, दुआ फातिहा या कोई इबादत नहीं कर सकता,बयान जारी करने पर AIUMB के अध्यक्ष  ने कहा कि हज़रत ख्वाजा  गरीब नवाज़ के मेहमानों के साथ यह व्यवहार खुला आतंकवाद है और ऐसा कोई भी ग़रीब नवाज़ की शिक्षा का पालन करने वाला नहीं कर सकता।

उन्होंने कहा कि आल इंडिया उलेमा व मशाइख बोर्ड पहले भी भारत सरकार को आगाह करता रहा है कि सूफियों की  दरगाहों पर वक्फ बोर्ड द्वारा शिद्दत पसंद लोग क़ाबिज़  हो रहे हैं और वह लोग सूफियों की तालीमात के खिलाफ काम कर रहे हैं,इस लिए ऐसे लोगों को तत्काल उनके पद से हटाया जाए.उन्होंने भारत सरकार से मांग करते हुए कहा कि दरगाह नाजिम को पद से हटाया जाए और इसके लिए जो भी कार्यवाही हो सरकार करे और दूसरी दरगाहों में जहां इस सोच के लोग काबिज हुए हैं उन्हें बाहर कर दिया जाए ताकि हिंसा ना फैला सकें.