हम अदालत के फैसले का सम्मान करते हैं -सय्यद अशरफ

नई दिल्ली :आल इंडिया उलेमा मशाइख बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यछ हजरत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने बाबरी मस्जिद केस में सुप्रीम कोर्ट द्वारा लाल कृष्ण आडवाणी , मुरली मनोहर जोशी ,उमा भारती, कल्याण सिंह सहित लोगों को आरोपी बनाकर केस चलने का आदेश देने पर कहा कि हमे हमेशा से भारत कि न्याय प्रणाली पर भरोसा था और अब जिन लोगों में थोड़ा भ्रम फैलाया जा रहा था उनका भी विश्वास और मज़बूत होगा।उन्होंने कहा लोग सोचेंगे जब सत्ता के शीर्ष पर बैठे लोगों के खिलाफ फैसला हो रहा है तो अपराधी अब बच नहीं पायेंगे।
मुल्क़ कि गंगा जमुनी तहज़ीब को और मज़बूती मिलेगी और जो खौफ का माहौल चंद लोगों के ज़रिये बनाने कि कोशिश की जा रही है उस पर रोक लगेगी ।

 

हजरत ने कहा कि मुल्क़ कि तरक़्क़ी कि बुनियाद अमन के क़याम पर है और अमन के क़याम के लिए अदालतों का रुख बहुत महत्वपूर्ण है अगर लोगों में अदालती व्यवस्था पर विश्वास कायम रहेगा तो मुल्क़ तरक़्क़ी करेगा हम अदालत के फैसले का खैरमकदम करते हैं ।और मुल्क़ कि तरक़्क़ी के लिए हर तरह से कोशिश कर रहे हैं देश के अल्पसंख्यक वर्ग देश के संविधान में अटूट विश्वास है और इस विश्वास को और बल मिला है।