सब्र शुक्र और मोहब्बत मोमिनों के यही हथियार हैं -सय्यद मोहम्मद अशरफ

नवगढ़:ऑल इंडिया उलमा व मशाईख़  बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष  सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी आज एक जलसे में शिरकत करने सिद्धार्थनगर के नवगढ पहुंचे यहाँ उन्होंने जनसमूह को खिताब करते हुए कहा कि मुसलमानों  को हर समय  तीन बातों का ख्याल  रखना चाहिए, न सिर्फ मुसलमानों को अगर सभी इस बात का ख्याल रखें तो देश  में अमन के दुश्मन नहीं कामयाब हो सकते, हज़रत ने कहा कि सब्र शुक्र और मोहब्बत यही वह तीन बातें  हैं ।
हज़रत ने अवाम  को आगाह किया कि लोग हमारे देश  पर बुरी नज़र लगाए हुए हैं, वह हमें  आपस में लड़वाना चाहते हैं ताकि हमारे देश  का अमन खतरे में पढ़ जाये और हम विकास न कर पाएं, अब यह देखना होगा कि कौन हैं वह लोग जो अमन खतरे में डालना चाहते हैं । हमें  एकजुट होकर उनका मोहब्बतों से मुक़ाबला करना है, हमारे पास सब्र शुक्र  और मोहब्बत के तीन हथियार हैं जिससे हम इन्हें हरा देंगे ।
हज़रत किछौछवी ने कहा कि हमें  हरगिज़ ऐसा कोई काम नहीं करना चाहिए जिससे किसी और की धार्मिक भावनाओं को चोट पहुंचे, उन्होंने साफ़ तौर पर कहा कि गाय के ज़बीहे पर पूरी तरह रोक लगनी चाहिए, हम सरकार  से माँग करते हैं  कि इसे मुकम्मल तौर पर पूरे देश में बंद किया जाए, उन्होंने लोगों से कहा कि अल्लाह के रसूल जनाब हज़रत मोहम्मद मुस्तफा  सल्लल्लाहु अलैहि वस्सल्लम ने फ़रमाया कि गाय के गोश्त में बीमारी है और इसका दूध दवा और इसके घी में शिफा है तो बीमारी की तरफ क्यों बढ़ा जाए बल्कि  उससे बाज़ आया जाए  अगर कोई सरफिरा ऐसा करता है तो उसे रोका जाना चाहिए ।
हज़रत ने आगे कहा कि मोहब्बतों को आम कीजिए,  हर इंसान कि मदद कीजिए, बिना मज़हब और मिल्लत का फ़र्क़ किए  यहाँ तक कि जानवरों के साथ भी नरमी बरतना इस्लाम है। हज़रत ने अंत  में कहा कि हम वही पैग़ाम लेकर आए जो  हज़रत ख्वाजा गरीब नवाज़ ने दिया जो इस्लाम की असल तालीम भी है यानि ‘मोहब्बत सबके लिए नफरत किसी से नहीं’ सबको इसी पर अमल करना होगा, यही कामयाबी है। प्रोग्राम  का समापन सलात व सलाम के बाद देश और दुनिया में अमन की दुआ के साथ हुआ।