नफरत न रुकी तो अंजाम तबाही : सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी

HomeNewsHindi News Articles

नफरत न रुकी तो अंजाम तबाही : सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी

31 अक्टूबर आल इंडिया उलमा व मशाइख बोर्ड के संस्थापक अध्यक्ष एवम वर्ल्ड सूफी फोरम के चेयरमैन हजरत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने मुल्क में बढ़ती नफरत

वक्फ के लुटेरे कौम के सबसे बड़े दुश्मन : सय्यद मोहम्मद अशरफ
آل انڈیا علما و مشائخ بورڈ صدر دفتر میں ذکر شہدائے کربلا
Sufism set the tone for religious co-existence:Sunday Guardian Live

31 अक्टूबर

आल इंडिया उलमा व मशाइख बोर्ड के संस्थापक अध्यक्ष एवम वर्ल्ड सूफी फोरम के चेयरमैन हजरत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने मुल्क में बढ़ती नफरत पर चिंता जताई है उन्होंने कहा त्रिपुरा में जिस तरह से वैचारिक आतंकवादी भारतीय मुसलमानों पर हमलावर हैं उनकी इबादतगाहें जला रहे हैं और सरकार तमाशाई बनी है ऐसी स्थिति देश के लिए खतरा है ,लोगों में अविश्वास की भावना तेजी से पनप रही है इसे किसी भी कीमत पर रोका जाना चाहिए।
उन्होंने कहा बांग्लादेश में जिस तरह कट्टरपंथी इस्लाम दुश्मनों ने मंदिर पर हमला किया वह किसी भी तरह जायज नहीं ठहराया जा सकता और उसकी खुलकर मजम्मत भी की जानी चाहिए लेकिन उसके जवाब में भारत में जिस तरह का माहौल बनाया जा रहा है वो भी किसी भी तरह सही नहीं हो सकता है ,इस्लाम सभी मजहबों की इज्जत करना और उनकी इबादतगाहों को नुकसान न पहुंचाने की तालीम देता है ।
मुल्क में जिस तेजी से नफरत पनप रही है यही आतंकवाद को जन्म देती है अगर लोगों को आतंकवाद से लड़ना है तो नफरत को पहले खत्म करना होगा क्योंकि नफरत के खेल में भोले भाले लोगों को उलझाया जाता है और फिर उन्हें गुमराह करके गलत रास्ते पर ले जाकर समाज के लिए खतरा बना दिया जाता है।
हज़रत ने कहा कि हजरत इमाम हुसैन का कौल है कि जुल्म के खिलाफ जितनी देरी से उठोगे नुकसान उतना ही अधिक होगा लिहाजा समाज के मोहब्बत वाले लोगों को अब जुल्म के खिलाफ मजबूती से खड़ा होना होगा जुल्म को बर्दाश्त करने से हम उसे और बढ़ने में मदद कर रहे हैं हमें इसे रोकना होगा।
दुनिया में कहीं भी धार्मिक कट्टरपंथ और वैचारिक आतंकवाद के जरिए किसी भी मजहबी जगह पर हमला होता है तो हमें इसके खिलाफ खड़े होना चाहिए वहीं अपने मुल्क में मुट्ठी भर दहशतगर्दों को भी प्यारे भारत को बर्बाद करने से रोकने के लिए आगे आना चाहिए।भारत सरकार को त्रिपुरा में दखल देकर मुसलमानों के खिलाफ हो रही हिंसा को रोकना होगा, यह नफरत देश का बड़ा नुकसान कर देगी।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0