देश भर में उलमा व मशाईख़ बोर्ड का रोष विरोध प्रदर्शन, मदरसों और दरगाहों से दी गई शहीदों को श्रद्धांजली

महाराज गंज, यूपी

आल इंडिया उलमा व मशाईख़ बोर्ड द्वारा देश भर में पुलवामा में हुए आतंकी हमले के विरुद्ध विरोध प्रदर्शन जारी है। कल बोर्ड के युवा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष सय्यद आलमगीर अशरफ ने इंदौर की एक जामे मस्जिद से ख़िताब करते हुए इस आतंकी हमले की कड़ी निंदा की थी और आज राजकोट में एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन करने जा रहे हैं जिस में दोषियों के ख़िलाफ़ जल्द और कड़ी सज़ा की मांग की जाएगी। सय्यद अशरफ के मुताबिक़ बोर्ड देश के कोने कोने से इस आवाज़ को उठाएगा और जब तक सज़ा नहीं मिल जाती विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा।

इसी कड़ी में यूपी के महाराज गंज ज़िले के नौतनवा में सय्यद अफ़ज़ाल अहमद और मौलाना क़मर आलम की अगुवाई में हमले के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन हुआ जिस में नौतनवा के लगभग सभी मदरसों के विद्यार्थियों, अध्यापकों, मस्जिदों के इमामों ने भाग लिया और एक साथ बोर्ड की आवाज़ को मज़बूत किया कि सब्र का पैमाना भर चुका है। अब ज़ालिम और क़ातिल को बख्शा ना जाये।

मदरसा अशरफिया दारुल उलूम और मदरसा गौसिया बरकतुल उलूम के प्रबंधकों और अध्यापकों ने विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लेते हुए कहा कि मुल्क पर उठने वाली किसी भी नज़र को हम किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं कर सकते।

विरोध प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे मौलाना कमर आलम ने कहा कि यह मुल्क हमारा है और इस मुल्क का हर बाशिंदा हमारा भाई है। मुल्क की सरहदों पर सिपाही हमारी रक्षा में खड़े हैं। आज उन पर हुआ यह जघन्य हमला हम पर और हमारी आन बान और शान पर हमला है जो हमें किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं। अगर सरकार इन के ख़िलाफ़ कुछ नहीं कर सकती तो हम सर पर कफ़न बाँध कर मुल्क की हिफाज़त के लिए तैयार हैं।

मास्टर शमीम अशरफी ने कहा कि हमारे सिपाही हमारा अभिमान और स्वाभिमान हैं। हम उन के परिवार के साथ हैं। उन्हीं इन्साफ दिला कर रहेंगे और और हमला में लिप्त एक एक अपराधी को जब तक सज़ा नहीं मिल जाती चुप नहीं बैठेंगे।

इन के अलावा प्रदर्शन में हाफिज़ कलीम उल्लाह, मौलाना ज़ुल्फ़िकार, मौलाना रफ़ीक, कारी जुनैद अशरफी, मौलाना उमर, मुहम्मद इदरीस खान अशरफी, अतीक़ अंसारी, शम्स तबरेज़, मुहम्मद नियाज़ कुरैशी, आज़ाद अशरफ कुरैशी, महबूब आलम, इरशाद खान और सद्दाम हुसैन समेत मदरसों छात्र, प्रबंधक, अध्यापक और मस्जिदों के इमाम शामिल हुए।

 

Source: Nayasavera.net

देश भर में उलमा व मशाईख़ बोर्ड का रोष विरोध प्रदर्शन, मदरसों और दरगाहों से दी गई शहीदों को श्रद्धांजली