रमज़ान में पूरे जोश के साथ वोट करें मुसलमान : सय्यद मोहम्मद अशरफ

March: 30, महाराजगंज,

वर्ल्ड सूफ़ी फोरम एवं ऑल इंडिया उलमा व मशाइख बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष हज़रत मौलाना सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने नौतनवां में अपने प्रेसवार्ता के दौरान रमज़ान में मुसलमानों के वोट डालने को लेकर छिड़ी बहस पर कहा कि रमज़ान में मुसलमान वोट नहीं कर पाएंगे यह एक प्रोपेगन्डा है, ताकि मुसलमानों में इसके निगेटिव सोच पैदा हो और वो वोट न कर सकें।

उन्होने कहा कि इस मसले को तूल न दिया जाए रमज़ान जैसे पाक पवित्र महीना में जहाँ मुसलमान अपने दिलो दिमाग को फ्रेश रखता है। और रोज़ा रहते हुवे अपने सारे कामो को भी करता है तो वो वोट क्यों नहीं कर सकता? रमज़ान को लेकर एक भरम की स्थिति मुसलमनों में पैदा की जा रही है जो ग़लत है। मुसलमान रोज़ा रख कर अपने दिलो दिमाग को फ्रेश कर के अपने हक़ का इस्तेमाल बढ़ चढ़ कर करेगा। मुल्क को तरक़्क़ी अमन व शांति और विकास देने वाली सरकार को चुनेगा।

उन्होने आखिर में कहा कि उलमा हज़रात अपने अपने इलाके में अवाम से वोट की अहमियत बतायें, साथ ही परशासन के लोगों को चाहिये कि वोट डालने वाले दिन वैसा इंतेज़ाम करें, ताकि रोजे़दारों को ज्यादा देर तक लाइन में न खड़ा होना पड़े।

अजमेर से दिया गया संदेश, लोकतंत्र को मज़बूत करना हमारी ज़िम्मेदारी ।

प्रेस रिलीज़:13 मार्च, बुधवार, अजमेर

चिश्ती मंज़िल दरगाह अजमेर शरीफ में आल इंडिया उलमाव मशाइख़ बोर्ड की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सालाना मीटिंग संपन्न हुई जिसमें बोर्ड की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्यों सहित सभी प्रदेशों के अध्यक्षों ने हिस्सा लिया.

सभा की अध्यक्षता बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष हज़रत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने की. उन्होंने इस मौके पर कहा कि आज अजमेर की धरती से ख्वाजा गरीब नवाज़ के उर्स के मौके पर हम देश को यह संदेश देना चाहते हैं कि नफरतों की हर दीवार गिरा कर हम सब मोहब्बत से गले मिलें, उन्होंने कहा कि मुल्क में आम चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है, कहीं कहीं चुनाव रमज़ान के मुबारक महीने में होना है जिसको लेकर बेमतलब की बहस की जा रही है।

रमज़ान में मुसलमान रोज़े की हालत में मज़दूरी करते हैं, ठेले लगाते हैं, दुकानदारी करते हैं अपनी जॉब पर जाते हैं, पढ़ने वाले बच्चे नवजवान अपनी पढ़ाई करते हैं तो वोट डालने में क्या परेशानी हो सकती है।

हज़रत ने कहा कि हमारे रसूल ने लोकतांत्रिक व्यवस्था दुनिया को दी है और उसे पसंद फरमाया है तो लोकतंत्र को मजबूत करना हमारी जिम्मेदारी है, जब हमें अपनी राय अपना प्रतिनिधि चुनने के लिए देनी है उस वक़्त हम रोज़े की हालत में अपने रब की इबादत भी कर रहे हों तो इससे बेहतर क्या हो सकता है।

रुदौली शरीफ दरगाह शेखुल आलम के सज्जादानशीन व बोर्ड के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य हज़रत अम्मार अहमद अहमदी उर्फ नय्यर मियां ने कहा कि बोर्ड को हर इलाक़े में लोगों तक यह संदेश पहुंचाना है जिसके लिए एक कार्यक्रम तय किया जाना है ताकि लोग अपने लिए अपना प्रतिनिधि चुनने में अपनी राय ज़रूर दे , देश के हर नागरिक को वोट देना ज़रूरी है,उन्होंने लोगों को उर्स की मुबारकबाद दी। बीजापुर कर्नाटक से तशरीफ लाये सय्यद तनवीर हाशमी ने कहा कि मुल्क के निज़ाम को चलाने के लिए सही सरकार का चुनाव अहम काम है जिसे करने का मौका अगर रमज़ान में मिल रहा है तो यह खुशी की बात है मुसलमान फजर की नमाज़ और क़ुरआन की तिलावत के बाद अपनी सच्ची राय मुल्क की बेहतरी के लिए देने पोलिंग बूथ पर पहुँचें।

बोर्ड कार्यकारणी सदस्य सैय्यदी मियां ने कहा कि हमें अपनी ज़िम्मेदारी से भागना नहीं है लोगों में जागरूकता लाने के लिए अभियान चलाया जायेगा, हर खानक़ाह से यह काम किया जाये।

बोर्ड के राष्ट्रीय संयुक्त सचिव व दरगाह अजमेर शरीफ के गद्दीनशीन सय्यद सलमान चिश्ती ने पूरी दुनिया को गरीब नवाज़ के 807 वें उर्स की मुबारकबाद दी, उन्होंने कहा कि देश की बेहतरी के लिए सही चुनाव ज़रूरी है ताकि देश विकास कर सके, हम सबकी ज़िम्मेदारी है कि हम वोट करें ।

तेलंगाना से तशरीफ लाए सय्यद आले रसूल पाशा ने कहा कि मुल्क में जिस तरह से नफरत फैलाने की कोशिश हो रही है हमें उसे नाकाम करना है और उसके लिए अपनी ज़िम्मेदारी निभानी होगी।

सभा में राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष क़ारी अबुल फतेह, छत्तीसगढ़ प्रदेश अध्यक्ष मौलाना मोहम्मद अली फारूक़ी, एमपी से मौलाना मेराज अशरफ, यूपी प्रदेश महासचिव सय्यद हम्माद अशरफ, पंजाब से रमज़ान अशरफी, कश्मीर से मौलाना क़ुतबुद्दीन ने शिरकत की, सभा के समापन पर पूरी दुनिया को उर्स की मुबारबाद देते हुए संसार से नफरतों के समापन एवं शांति स्थापना की दुआ की गई।

By: Younus Mohani