हम उम्मीद करते हैं, अदालत जल्द 341पर भी इंसाफ देगी : सय्यद मोहम्मद अशरफ

7 सितंबर /कलियर,

आल इंडिया उलमा व मशाईख बोर्ड के संस्थापक अध्यक्ष और वर्ल्ड सूफी फोरम के चेयरमैन हज़रत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने कलियर में एक जलसे को खिताब करते हुए कहा कि “हम उम्मीद करते हैं कि अदालत 341 पर भी जल्द फैसला करेगी” वह कल यहां एक प्रोग्राम शहीद कांफ्रेंस में शिरकत करने आए हुए थे।
उन्होंने कहा कि जब अदालत 377 पर इतनी गंभीरता से विचार कर खतम कर सकती है तो फिर 341 पर लगा प्रतिबंध तो पहली नजर में ही असंवैधानिक प्रतीत होता है क्योंकि ये सीधे तौर पर धर्म के आधार पर आरक्षण दिए जाने वाला है जबकि संविधान के अनुच्छेद 341पर प्रतिबंध सरासर गलत है जोकि संविधान के अनुच्छेद 15 और अनुच्छेद 29(2) का परस्पर विरोधभासी है इसपर जल्द ही अदालत न्याय प्रदान करेगी हम ऐसी उम्मीद करते हैं।
हज़रत ने कहा जिस तरह मुल्क में बेरोज़गारों की जमात बढ़ रही है वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है । आए दिन हो रही भीड़ द्वारा हत्याएं देश को गृहयुद्ध की ओर खींच रही हैं सरकार को इसपर बहुत गंभीर होकर विचार करना होगा और कड़े कदम उठाने होंगे क्योंकि अब ये सिलसिला दलितों और मुस्लिमो से आगे आकर सभी को अपने घिनौने घेरे में ले रहा है।
हज़रत किछौछवी ने कहा लोगों को खुद समझदार होकर मूल विषय से भटकना नहीं चाहिए वह है। स्वास्थ्य ,रोजगार, शिक्षा और सुरक्षा जबकि हमें भटकाया जा रहा है कभी धर्म का इस्तेमाल कर और कभी तरह तरह के नये- नये हथकंडे अपना कर ,लिहाज़ा आप सबको होशियार रहना होगा,और सबको मतदान करना होगा उन्होंने लोगों से अपील की कि सभी लोग मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज करवाए ये सबका मूल अधिकार है ।
इस्लाम मोहब्बत का मजहब है इसे हम और आप अपने कर्म से लोगों को बताएं क्योंकि हमारा अमल हमारे व्यक्तित्व का निर्धारण करता है आखिर में केरल के लोगों के लिए मदद जुटाने का आह्वाहन करते हुए उन्होंने दुनिया के हर कोने में परेशान इंसानियत के लिए दुआ की।

By: Yunus Mohani