HomeUncategorized

वोट हमारा हक, वोटर बनना हमारी जिममेदारी : सय्यद मोहम्मद अशरफ

5/सितंबर , चित्तौड़गढ़ “वोट हमारा हक़ और वोटर बनना हमारी ज़िम्मेदारी” आल इंडिया उलमा व मशाईख बोर्ड के संस्थापक अध्यक्ष  व वर्ल्ड सूफी फोरम के चेयरमैन

عرس سرکار کلاں و عرس شیخ اعظم کچھوچھہ سے بھی دہلی فسادات سے متاثرہ افراد کی مدد کا مطالبہ
वहाबियत: इस्लाम के प्रचार में सबसे बड़ी रुकावट :मौलाना सय्यद आले मुस्तफा क़ादरी अल जीलानी अली पाशा
All India Ulama Mashaikh Board protests against non representation of Muslims in Muslim affairs

5/सितंबर , चित्तौड़गढ़

“वोट हमारा हक़ और वोटर बनना हमारी ज़िम्मेदारी” आल इंडिया उलमा व मशाईख बोर्ड के संस्थापक अध्यक्ष  व
वर्ल्ड सूफी फोरम के चेयरमैन हज़रत सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछवी ने यह बात जगह जगह लोगों के नाम वोटर लिस्ट से गायब होने पर लोगों को आगाह करते हुए कही।
हज़रत ने कहा, हर तरफ से आवाज़ उठ रही है कि वोटर लिस्ट में नाम गायब हैं और हर चुनाव में ये होता आया है, पूरे पूरे मोहल्ले के लगभग लोगों के नाम वोटर लिस्ट से गायब होते हैं , लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करने से वंचित रह जाते हैं और उनका लोकतंत्र में जो सबसे बड़ा अधिकार है वह उसका फायदा नहीं उठा पाते।
उन्होंने एनआरसी की बात करते हुए कहा की आसाम में गरिकता के लिए जूझ रहे हैं ,अगर समाज बेदार नहीं हुआ और उसने अपना कर्तव्य नहीं निभाया तो कल ऐसे लोगों की स्थिति भी वैसी ही हो सकती है कि उन्हें अपनी नागरिकता को साबित करने के लिए दर दर की ठोकरें खाना पड़े और अपने ही देश में शरणार्थी जैसी स्थिति हो जाए ।
हज़रत किछौछवी ने कहा कि मैंलोगों से आह्वाहन करता हूं कि भारत के निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाता सूची का पुनरीक्षण कार्य किया जा रहा है, सभी 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुके लोग अपना नाम मतदाता सूची में जुड़वा लें ताकि आने वाले समय में आपको आपके संवैधानिक अधिकार से वंचित न किया जा सके।
उन्होंने यह भी कहा कि सब लोग मतदाता सूची में न सिर्फ नाम जुड़वाएं बल्कि वोट भी ज़रूर करें क्योंकि आपके वोट न करने से यदि कोई ग़लत व्यक्ति चुना जाता है तो उसके द्वारा किए गए गलत कार्यों के आप भी भागीदार होते हो क्योंकि आपने मताधिकार का प्रयोग न करके गलत व्यक्ति को मौक़ा दिया।
हज़रत ने कहा कि खासतौर पर मुसलमान इन चीज़ों से दूर रहते हैं, उन्हें अपनी ज़िम्मेदारी समझनी चाहिए,वहीं उन्होंने कड़े शब्दों में कहा कि किसी भी प्रकार की हीलहवाली लोकतंत्र में बर्दाश्त नहीं की जाएगी सभी वैधपत्र रखने वाले लोगों को मताधिकार का प्रयोग करने का हक़ है, यदि किसी कारणवश उस व्यक्ति का नाम वोटरलिस्ट में न हो तो उसे आधार के ज़रिए वोट करने का मौक़ा चाहिए और आधार को वोटर आइडी से जोड़ दिया जाना चाहिए।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: