HomeStatementsPress Release

पैलेट गन का इस्तेमाल तुरंत रोकने के उलेमा मशाईख की मांग

14th Oct Hazrat Syed Mohammad Ashraf सैयद मोहम्मद अशरफ किछौछ्वी पीड़ितों के लिए त्वरित पुनर्वास पैकेज के पक्ष में ऑल इंडिया उलमा व मशाईख बोर्ड ने क

Sunni Conference,Moradabad,UP, January 3, 2010
فروری میں بین اقوامی صوفی کانفرنس کے انعقاد کی تیاریاں شروع پہلی تیاری میٹنگ میں سیمینار اور عوامی اجتماع کے مختلف پہلوؤں کا جائزہ
हर हिन्दोस्तानी के दिल में है तिरंगा, यह है हमारी शान: सय्यद सलमान

14th Oct

Hazrat Syed Mohammad Ashraf

prsdt8
सैयद मोहम्मद अशरफ किछौछ्वी पीड़ितों के लिए त्वरित पुनर्वास पैकेज के पक्ष में ऑल इंडिया उलमा व मशाईख बोर्ड ने कश्मीर में सुरक्षा बलों के हाथों पैलेट गन के इस्तेमाल पर तत्काल प्रतिबंध लगाने की मांग करते हुए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और जम्मू-कश्मीर की महबूबा मुफ्ती सरकार से मांग की है कि 8 जुलाई के बाद से अब तक पैलेट बंदूकों के इस्तेमाल से प्रभावित कश्मीरी युवाओं के भरपूर इलाज, पुनर्वास और पुनर्वास के लिए पैकेज की घोषणा करे।
बोर्ड के अध्यक्ष और संस्थापक हजरत मौलाना सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछ्वी ने यहां आज बयान में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में आतंकवादियों के ठिकानों पर भारतीय सेना की सीमित, विशिष्ट, निशाना बंद कार्रवाई सर्जिकल स्ट्राइक का समर्थन करते हुए कहा कि कश्मीरी जनता को आक्रामकता के सामने अकेले नहीं छोड़ा जा सकता है। पैलेट गन के खिलाफ पूरे देश की जनता की राय को नजरअंदाज करके मुफ्ती सरकार और मोदी सरकार देश की कोई सेवा नहीं कर रही हैं। सुन्नी सूफी मुसलमानों के प्रतिनिधि संगठन ऑल इंडिया उलमा व मशाईख बोर्ड कश्मीर में आवामी बेचैनी और इसे नियंत्रित करने के लिए शक्ति के दुरुपयोग से बहुत दुखी है और जल्दी रोकथाम की मांग करता है क्योंकि कश्मीर की जमीन के साथ कश्मीर के निवासी भी हमारे लिए सम्मान और स्वतंत्र, धर्मनिरपेक्ष और लोकतांत्रिक देश के नागरिक होने के नाते उन्हें भी सुरक्षा और शांति के साथ जीने और लोकतांत्रिक शांतिपूर्ण विरोध का अधिकार है।
बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि पाकिस्तान की सरकार और वहां की स्टैब्लिश्मेंट अपनी असफलताओं से जनता का ध्यान हटाने के लिए कश्मीर का मामला गर्म किए हुए है। आतंकवादी हमलों, नियंत्रण रेखा पर सीज़ फायर का उल्लंघन और जनता को बरगला कर प्रदर्शनों और पथराव के लिए प्रेरित करने की अलगाववादियों की कोश्हिशों ने मिलकर राज्य की शांति को भंग कर दिया है और स्थिति को संभालने के लिए प्रशासनिक उपायों के साथ राजनीतिक प्रयास आवश्यक हो गया है।
उन्होंने कश्मीरी जनता से भी सूझ-बूझ से काम लेने की अपील करते हुए सबसे पहले शांति बहाली पर जोर दिया।
ऑल इंडिया उलमा व मशाईख बोर्ड राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछ्वी ने कश्मीर के शासक और विपक्षी दलों से अपील की कि वह राज्य में शांति की बहाली के लिए संयुक्त कोशिशें शुरू करें और घावों पर मरहम रखने की प्रक्रिया जल्द से जल्द शुरू करें।

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0