HomeNewsHindi News Articles

होशियार रहिये लोग चोला बदल रहे हैं -सय्यद मोहमम्द अशरफ

नेपाल :आल इंडिया उलमा व मशाईख़  बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष  हज़रत मौलाना सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछ्वी एक जलसे को सम्बोधित  करने नेपाल बॉर्डर पहुंचे! उन्ह

आल इंडिया उलमा मशाइख़ बोर्ड ने” रैली फॉर रीवर “अभियान का किया समर्थन !!
देश में अशान्ति फैलाना चाहते हैं पैग़म्बर के दुश्मन : सय्यद मोहम्मद अशरफ
आफत में घिरे लोगों की मदद हम सब का इन्सानी फ़र्ज़ है : सय्यद मोहम्मद अशरफ

नेपाल :आल इंडिया उलमा व मशाईख़  बोर्ड के राष्ट्रीय अध्यक्ष  हज़रत मौलाना सय्यद मोहम्मद अशरफ किछौछ्वी एक जलसे को सम्बोधित  करने नेपाल बॉर्डर पहुंचे! उन्होंने वहां लोगों से मुलाक़ात की, उनके हालात जाने, उनकी परेशानियाँ सुनीं  और उन्हें सरकार  तक पहुँचाने  का वादा किया, उसके बाद उन्होंने जलसे से अवाम को सम्बोधित  किया !
हज़रत ने जलसे को खिताब करते हुए कहा कि मुसलमानों को अपना किरदार पेश करना होगा, ज़ुल्म ख़ुद बखुद हार जायेगा लेकिन अफ़सोस की बात है कि आज हम अमल से दूर हैं, हमें दुनिया को अपने किरदार द्वारा बताना होगा कि इस्लाम मोहब्बत का धर्म है ,न कि शर का ! इसलिए  हम सब की ज़िम्मेदारी बनती है कि लोगों के काम आयें और  बिना किसी भेदभाव  के सबके दुःख सुख में खड़े होकर  उनकी मदद करें और अपने देश से  बेपनाह मोहब्बत करें क्योंकि हमारे आक़ा  जनाब मोहम्माद मुस्तफा   सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने फरमाया कि अपने देश  से मोहब्बत करना आधा ईमान है !
हज़रत ने कहा कि आपको होशियार रहना होगा क्योंकि लोग अब अपना भेष बदल रहे हैं, उनकी कोशिश है कि किसी तरह आपके बीच घुस कर आपको नुक़सान  पहुँचाया जाये! आल इंडिया उलमा व मशाईख़  बोर्ड शासन और प्रशासन को लगातार बता रहा है कि लोग अब धोखा देने के लिए नए नए पैंतरे अपना रहे हैं, जिनका अक़ीदा ही वसीले पर नहीं हैं वह अपना रिश्ता ख्वाजा ग़रीब नवाज़ से जोड़ रहे हैं !
हज़रत किछौछवी ने कहा कि जब आल इंडिया उलमा व मशाईख़ बोर्ड ने इनकी हक़ीक़त खोल दी तो अब यह लोग फरेब दे रहे हैं ! इसलिए  अब होशियार रहने की ज़रूरत है,क्योंकि अगर हम धोका खाया  तो नुक़सान  बड़ा होगा ! अमन क़ायम करने की और इसे महफूज़ रखने की ज़िम्मेदारी हम मुसलमानों की है और यह सिर्फ तब ही मुमकिन है जब हम सिर्फ मोहब्बत वाले बन जाएँ, आपसी रंज़िशों को   खतम कर दीजिये, आपसी मनमुटाव मिटा दीजिये, मुसलमान मोहब्बत वाला होता है, नफरत का तो इस्लाम से रिश्ता ही नहीं है ! सब तक यह पैग़ाम आम कीजिए “मोहब्बत सबके लिए नफरत किसी से नहीं ” जलसे का समापन सलातो सलाम के बाद देश  में अमन की दुआ के साथ हुआ !

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0