HomeNewsStatements

नफरत फैलाने वाले देश और मानवता के दुश्मनों से सतर्क रहने की ज़रूरत : सय्यद मोहम्मद अशरफ

नई दिल्ली:आल इण्डिया उलेमा मशाइख बोर्ड के संस्थापक अध्यछ हज़रत सय्यद मोहमम्द अशरफ किछौछवी ने आज महरौली शरीफ दिल्ली में हज़रत अशिकुल्लाह शाह रहमतउल्लाहअल

अपने बच्चों को दीनी तालीम से आरास्ता करें मुसलमान: मौलाना किछौछवी
ऑल इंडिया उलमा माशाईख बोर्ड के कार्यकर्ताओं ने वृक्षारोपण कर मनाया अपने अध्यक्ष का जन्मदिन।
धर्म के नाम पर खून बहा है कभी अध्यात्म के नाम पर नहीं – सय्यद अशरफ

नई दिल्ली:आल इण्डिया उलेमा मशाइख बोर्ड के संस्थापक अध्यछ हज़रत सय्यद मोहमम्द अशरफ किछौछवी ने आज महरौली शरीफ दिल्ली में हज़रत अशिकुल्लाह शाह रहमतउल्लाहअलहि के उर्स के मौके पर खिताब करते हुए कहा सुफिया का तरीका मोहब्बत का तरीका है नफरतों की इसमें कोई जगह नहीं है कोई किसी भी मज़हब का हो किसी भी फिक्र का हो सुफिया के यहाँ कोई रोक टोक नहीं सबको मोहब्बतों से नवाजना यही तरीक है बुजुर्गों का और इसी तरह इस्लाम की तबलीग की गयी .
हज़रत ने कहा यह दौर बहुत खतरनाक है हम सबको होशियार रहना होगा किसी को भी कानून हाथ में लेने का हक नहीं है हिन्दोस्तान सबका है और हम सब की ज़िम्मेदारी है इसकी हिफाज़त मुल्क में अमन के कयाम की सबसे ज्यादा ज़िम्मेदारी मुसलमानों की है क्योंकि हम वह कौम हैं जिसे दुनिया में अमन कायम करने के लिए, हक की तबलीग के लिए, ज़ुल्म की मुखालफत के लिए, भेजा गया है.
उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में जिस तरह पैगम्बरे इस्लाम सल्लल्लाहुअलहिवसल्लम की शान में फेसबुक पर गुस्ताखी की गयी यह एक साजिश का हिस्सा है और इसकी जितनी भी निंदा की जाये वह कम है मोहसिने इंसानियत की शान में गुस्ताखी जहाँ नाकाबिले बर्दाश्त अमल है और यह बात नफरतों के सौदागर जानते हैं इसीलिए इस तरह का काम किया जाता है ताकि मुसलमान सड़कों पर आये और हिंसा फैलाई जा सके,वही हुआ लोगों ने कानून को हाथ में लिया और आगज़नी की जिससे बदअमनी फैली जो काबिले मज़म्मत है हिंसा करने वाला कोई भी हो उसे जायज़ नहीं ठहराया जा सकता लोगों को कानून का सहारा लेना चाहिए और दोषी को सजा दिलवाने के लिए कोशिश करनी चाहिए न की शहर के अमन को आग लगानी चाहिए .
हज़रत ने कहा हर हाल में हिंसा रुकनी चाहिए हर कीमत पर इसे रोका जाना चाहिए गुस्ताखे रसूल को कड़ी से कड़ी सज़ा मिलनी चाहिए उसे गिरफ्तार भी कर लिया गया है लोगों को सब्र से काम लेना चाहिए और किसी भी तरह कानून को हाथ में नहीं लेना चाहिए यह साजिशों का दौर है हमे बच के रहना होगा .
हज़रत ने साफ़ कहा कि आपको उकसाने की कोशिश की जाएगी इंसानियत की दुश्मन ताक़तें आपको गुस्सा दिलाने की कोशिश करेंगी आप मुल्क के संविधान पर भरोसा रखें और कानून का सहारा लें जितना मुमकिन हो सोशल मीडिया पर हो रही खुराफात से दूर रहें और इनकी रिपोर्ट करें मुल्क हमारा है इसकी हिफाज़त हमे करनी होगी .
इस मौके पर सैकड़ों अकीदतमंद मौजूद रहे सलातो सलाम के बाद कुल शरीफ हुआ और मुल्क में अमन और मुल्क की तरक्की की दुआ की गयी .

COMMENTS

WORDPRESS: 0
DISQUS: 0